आँचलिक विज्ञान केंद्र भोपाल

अधिक जानकारी

आंचलिक विज्ञान केन्द्र भोपाल का उद्घाटन 12 जनवरी 1995 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री शंकर दयाल शर्मा के कर कमलों द्वारा किया गया। यह केन्द्र राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद् की 27 इकाइयों में से एक है जो कि एक स्वायत्त संस्थान है जो भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अधीन आता है। यहां पर गतिविधियों एंव संवादात्मक कार्यक्रमों की एक विस्तृत श्रृंखला के माध्यम से सामान्य जन तथा  विशेषकर छात्रों के बीच विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी को लोकप्रिय बनाना विज्ञान केन्द्र की प्राथमिकता है।